इथियोपिया के पीएम की रैली में विस्फोट, एक की मौत; 83 घायल

0
60

प्रधानमंत्री अबिय अहमद की यहां राजधानी में हुई पहली रैली में हुए धमाके में एक व्यक्ति की मौत हो गई जबकि 83 घायल हो गए।

इथियोपिया के नए प्रधानमंत्री अबिय अहमद की यहां राजधानी में हुई पहली रैली में हुए धमाके में एक व्यक्ति की मौत हो गई जबकि 83 घायल हो गए। शनिवार को आयोजित रैली में हजारों लोग पहुंचे थे। प्रधानमंत्री ने जैसे ही अपना भाषण समाप्त किया, विस्फोट हुआ। इससे लोगों में भगदड़ मच गई। प्रधानमंत्री जल्दी ही वहां से चले गए। वह स्वस्थ दिख रहे थे। बाद में सरकारी टेलीविजन पर अपने संबोधन में प्रधानमंत्री ने कहा कि विस्फोट उन लोगों ने किया है जो रैली को फीकी करना चाहते थे। हालांकि अहमद ने उनका नाम नहीं लिया। उन्होंने कहा कि रैली में कई लोग मारे गए हैं।

स्वास्थ्य मंत्री आमिर अमन ने बताया कि एक व्यक्ति की मौत हुई है। चीफ ऑफ स्टाफ फित्सुम एरेगा ने ट्विटर पर बताया कि पुलिस और अस्पतालों से मिली जानकारी के मुताबिक, 83 लोग घायल हुए हैं। इनमें छह की हालत गंभीर है। प्रधानमंत्री ने अप्रैल में कार्यभार संभाला है और राजधानी में यह उनकी पहली रैली थी। वह हरे रंग की टी-शर्ट और हैट पहने हुए थे। पिछले तीन महीनों में प्रधानमंत्री ने कई सुधारात्मक कदम उठाए हैं। रैली आयोजक सेयौम टेशोमे ने बताया कि निशाने पर प्रधामंत्री थे।

प्रत्यक्षदर्शी अब्राहम तिलाहुन ने कहा कि पुलिस की वर्दी पहने एक आदमी ने प्रधानमंत्री के मंच की ओर बम फेंका, लेकिन भीड़ ने रोक लिया।

रैली में विस्फोट, बाल-बाल बचे जिंबाब्वे के राष्ट्रपति हरारे

राजनीतिक रैली संबोधित करते समय हुए विस्फोट में जिंबाब्वे के राष्ट्रपति एमेर्सोन मनगागवा बाल-बाल बच गए। शनिवार को हुए विस्फोट से बुलावायो का स्टेडियम दहल गया। राष्ट्रपति के प्रवक्ता ने बताया कि राष्ट्र प्रमुख सुरक्षित हैं। विस्फोट में उपराष्ट्रपति कोन्स्टानटिनो छिवेंगा और उनकी पत्नी मामूली रूप से घायल हुए हैं।

प्रवक्ता गेओर्गे चारांबा ने कहा, ‘बुलावायो के स्टेडियम में राष्ट्रपति रैली को संबोधित कर रहे थे। यह पुलिस का मामला है, लेकिन राष्ट्रपति सुरक्षित हैं। हम इस बात का पता लगाने में जुटे हैं कि आखिर हुआ था? चूंकि वीआईपी टेंट में विस्फोट हुआ इसलिए हम समझते हैं कि कुछ लोग घायल हुए होंगे।’ जिस जगह विस्फोट हुआ है वह विपक्ष का गढ़ है। 2000 से हुए चुनावों में यहां से सत्ताधारी जेडएएनयू–पीएफ नहीं जीत पाया है। देश में 30 जुलाई को राष्ट्रपति चुनाव कराए जाएंगे। इस चुनाव में 75 वर्षीय मनगागवा और 40 वषर्षीय नेल्सन चामिसा के बीच टक्कर है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here