जन्मदिन विशेष: दमदार अभिनेता से राजनेता तक, ऐसे थे विनोद खन्ना

0
58
vinod khanna

डेस्क। बॉलीवुड के फेमस अभिनेता विनोद खन्‍ना का आज जन्‍मदिन है। विनोद खन्‍ना पिछले साल कैंसर से जिंदगी की जंग में हार गए थे। 27 अप्रैल 2017 को उन्‍होंने इस दुनिया को अलविदा कह दिया। लेकिन उनकी एक्टिंग को शायद ही कोई भुला पाया होगा।

विनोद खन्‍ना ने अपने फ़िल्मी करियर की शुरुआत सुनील दत्त की फिल्म “मन का मीत” मे खलनायक के रूप मे की थी। भारतीय फिल्म इतिहास को एक ऐसा नायक मिला जिसे चरित्र से ज़्यादा उसका चेहरा, कद काठी और बेहद आकर्षक व्यक्तित्व नायक बनाता था। ये विनोद खन्ना थे। 

1971 मे आई फिल्म “मेरा गाँव मेरा देश” काले कपड़ो मे काला टीका लगाए दमदार आवाज़ मे विनोद खन्ना ने जब डाकू का चरित्र जिया तो डाकू का ज़िक्र होते ही विनोद खन्ना का चरित्र उभर आता है। डरावने डाकू से इतना आकर्षक डकैत लोगो को इतना भाया की विनोद फ़िल्मो मे दर्शाए डाकू चरित्र का पर्याय बन गए।

1977 मे अमर अकबर एंथोनी ने विनोद खन्ना को फिल्म इंडस्ट्री मे ध्रुवतारा की तरह आकाश पर क़ाबिज़ अमिताभ के समकक्ष खड़ा कर दिया। अमिताभ के साथ जुगलबंदी की एक और फिल्म “मुक़द्दर का सिकंदर ” मे विनोद खन्ना ने सिकंदर के चमक के सामने अपनी आभा को कम नही होने दिया।

बेहद हँसमुख ये सितारा राजनीति मे भी उतरा और सबका दिल जीत लिया। गुरदासपुर से विनोद खन्ना ने 4 बार सांसद का चुनाव जीता था। और मंत्री होने का भी गौरव हासिल किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here