इंग्लैंड में मात्र 6 टेस्ट ही जीत पाया हैं भारत, जीत के हीरो ये रहे

0
385

भारत और इंग्लैंड के बीच पांच टेस्ट मैचों की सीरीज 1 अगस्त से बर्मिंघम में शुरू होगी। विराट कोहली की टीम के लिए यह अग्निपरीक्षा होगी क्योंकि इंग्लैंड में टेस्ट फॉर्मेट में टीम इंडिया का रिकॉर्ड बहुत खराब रहा है।

भारत यहां 57 टेस्ट मैचों में से मात्र 6 टेस्ट मैच ही जीत पाया है। भारत ने इंग्लैंड की धरती पर 17 टेस्ट सीरीज में से मात्र 3 सीरीज अपने नाम की है।

भारत को इंग्लैंड में 30 टेस्ट मैचों में हार मिली जबकि 21 टेस्ट ड्रॉ रहे। भारत को इंग्लैंड में टेस्ट जीत दिलाने में बीएस चंद्रशेखर से ईशांत शर्मा तक ने अहम भूमिकाएं निभाई है। चंद्रशेखर के मायाजाल में इंग्लिश बल्लेबाज फंसे और भारत ने 1971 में पहली बार टेस्ट और सीरीज जीत दर्ज की थी। इसके बाद भारत ने 1986 में इंग्लैंड में दूसरी बार सीरीज पर कब्जा जमाया। इस सीरीज में भारत ने दो टेस्ट जीते।

2002 में खेली गई सीरीज ड्रॉ रही और इसमें भारत के बल्लेबाजों का जलवा देखने को मिला। भारत ने 2007 की सीरीज जहीर खान के जलवे के चलते अपने नाम की। भारत ने 2014 में एक टेस्ट जीता, लेकिन सीरीज मेजबान टीम ने 3-1 से जीती।

भारत को इंग्लैंड में पहली टेस्ट जीत 1971 के दौरे पर मिली जब भारत ने ओवल में खेले गए सीरीज के तीसरे और अंतिम मैच में इंग्लैंड को 4 विकेटों से हराया। इंग्लैंड ने पहली पारी में 71 रनों की बढ़त बनाई, लेकिन बीएस चंद्रशेखर की घातक गेंदबाजी के सामने मेजबान टीम की दूसरी पारी मात्र 101 रनों पर‍ सिमट गई।

चंद्रशेखर ने 38 रनों पर 6 विकेट झटके। इसके बाद भारत ने 173 रनों के लक्ष्य को 6 विकेट खोकर हासिल कर लिया। अजित वाडेकर के नेतृत्व वाली भारतीय टीम ने इसी जीत के साथ टेस्ट सीरीज पर भी 1-0 से कब्जा जमाया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here