राजस्थान के चुनावी रण का विश्लेषण, वोट ‘कटवा’ पार्टियां बढ़ा सकती है भाजपा-कांग्रेस की मुश्किलें

0
107
rajasthan vidhansabha 2018

डेस्क। (मनीष दाधीच) राजस्थान में विधानसभा चुनाव की रणभेरी बज चुकी है। और सत्तारूढ बीजेपी और मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस की मेहनत का फल भी चुनाव परिणाम के रूप में 11 दिसंबर को सामने आ जाएगा। प्रदेश में अब तक मुख्यतया बीजेपी और कांग्रेस पार्टी का ही दबदबा रहा है

लेकिन इस बार बीजेपी और कांग्रेस दोनों ही पार्टियों के लिए अपने बागी हुए विधायकों से भी पार पाना आसान नहीं होगा। देश में जैसे जैसे राजनीतिक पार्टियों का गठन हुआ है ठीक वैसे ही राजस्थान में भी कई क्षेत्रीय पार्टियां अपनी अपनी जगह तलाशने में जुटी है। भाजपा से बगावत कर घनश्याम तिवाडी ने खुद की भारत वाहिनी पार्टी बनाई है तो वहीं नागौर के खींवसर से निर्दलीय विधायक हनुमान बेनीवाल भी अपनी ही पार्टी का गठन करने जा रहे है।

पिछले विधाानसभा के रिकॉर्ड को देखा जाए तो राष्ट्रीय और राज्य स्तरीय कुल 16 पार्टियों और पंजीकृत अनरिकग्नाइज्ड 43 पार्टियों ने अपने प्रत्याशी चुनावी मैदान में उतारे थे। इनमें से सिर्फ 5 पार्टियों के ही प्रत्याशी चुनावी मैदान में जीतकर विधानसभा पहुंचे। बात की जाए पार्टियों के सिम्बल पर जीतकर विधानसभा पहुंचे 193 प्रत्याशियों में बीजेपी के 163, कांग्रेस के 21 और बसपा के 3 थे। जबकि 4 प्रत्याशी राज्य स्तरीय नेशल पीपुल्स पार्टी के और 2 प्रत्याशी पंजीकृत अनरिकग्नाइज्ड पार्टी जमींदारा पार्टी से है।

सवा फीसदी वोट भी नहीं..

वर्ष 2013 के वोटिंग आंकडों पर नजर डालें तो 43 पंजीकृत अनरिकग्नाइइज्ड पार्टियां चुनावी मैदान में थीं,,, जिनमें से अगर राजपा को छोड दें तो 42 ऐसी पार्टियां जिन्हें कुछ डाले गए वोटों का 1 दशमलव 14 फीसदी ही वोट मिले।

ये थीं प्रमुख पार्टियां..

नेशनल लेवल की पार्टियां:
भाजपा, कांग्रेस, बसपा, सीपीआई एम, एनसीपी

राज्स स्तरीय पार्टियां :

नेशनल पीपुल्स पार्टी, इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग, जनता दल यूनाइटेड, जनता दल सेकुलर, लोक जन शक्ति पार्टी, जम्मू एंड कश्मीर नेशनल पैंथर्स पार्टी, राष्टृीय लोकदल, शिवसेना और समाजवादी पार्टी, जमींदारा पार्टी…

इस बार नव गठित पार्टियां:

घनश्याम तिवाडी की भारत वाहिनी पार्टी
हनुमान बेनीवाल की पार्टी की घोषणा जल्द..

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here