IIT बॉम्बे के दीक्षांत समारोह में बोले PM मोदी, असली चुनौती कर रही इंतजार

0
155

PM नरेंद्र मोदी भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) बॉम्बे के 56वें दीक्षांत समारोह में शामिल होने पहुंचे. यहां छात्रों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि पूरा देश आईआईटी छात्रों से प्रेरणा लेता है और विदेश में भी हमारे छात्र कामयाब हैं. छात्रों को शुभकामनाएं देते हुए पीेएम मोदी ने ये भी कहा कि असली चुनौती बाहर आपका इंतजार कर रही है.

पीएम ने कहा, ‘आज इस अवसर पर सबसे पहले मैं डिग्री पाने वाले देश-विदेश के विद्यार्थियों और उनके परिवारों को बधाई देता हूं, उनका अभिनंदन करता हूं. बीते 6 दशकों की निरंतर कोशिशों का ही परिणाम है कि आईआईटी बॉम्बे ने देश के चुनिंदा उत्कृष्ट संस्थानों में अपनी जगह बनाई है.

आगे है असली चुनौती

पासआउट हो रहे छात्रों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा, ‘आज जो डिग्री आपको मिली है, ये आपके निष्ठा और प्रतिबद्धता का प्रतीक है. याद रखिए कि ये सिर्फ एक पड़ाव भर है, असली चुनौती आपका बाहर इंतजार कर रही है. आपने आज तक जो हासिल किया और आगे जो करने जा रहे हैं, उससे आपकी अपनी, आपके परिवार की, 125 करोड़ देशवासियों की उम्मीदें जुड़ी हैं.

पीएम मोदी ने स्टार्ट अप योजना का भी जिक्र किया. उन्होंने बताया, ‘स्टार्ट अप की जिस क्रांति की तरफ देश आगे बढ़ रहा है, उसका एक बहुत बड़ा माध्यम हमारे आईआईटी हैं. आज दुनिया IIT को यूनीकॉर्न स्टार्ट अप्स की नर्सरी तक मान रही है. ये एक प्रकार से तकनीक के दर्पण हैं, जिसमें दुनिया को भविष्य नजर आता है.’

IIT की नई परिभाषा

पीएम मोदी ने अपने संबोधन में आईआईटी को एक नई संज्ञा भी दी. उन्होंने कहा, ‘IIT को देश और दुनिया इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के रूप में जानती है, लेकिन आज हमारे लिए इनकी परिभाषा थोड़ी बदल गई है. ये सिर्फ टेक्नोलॉजी की पढ़ाई से जुड़े स्थान भर नहीं रह गए हैं, बल्कि आईआईटी आज इंडियाज इंस्ट्रूमेंट और ट्रांसफोर्मेशन बन गए हैं.

इससे आगे पीएम मोदी ने कहा, ‘मेरा आप सभी से भी इतना ही आग्रह है कि अपनी असफलता की उलझन को मन से निकालें और आकांक्षाओं पर फोकस करें. ऊंचे लक्ष्य, ऊंची सोच आपको अधिक प्रेरित करेगी, उलझन आपके टैलेंट को सीमाओं में बांध देगी.’ पीएम ने कहा कि सिर्फ आकांक्षाएं होना ही काफी नहीं है, लक्ष्य भी अहम होता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here