लोकसभा 2019 : बिहार में मोदी के खिलाफ नए महागठबंधन की तैयारी…

0
146

पटना : एकतरफ जहां 2019 के चुनाव के लिए NDA अभी तक सीट शेयरिंग फार्मूला पर काम कर रहा है तो वहीं दूसरी तरफ बिहार में महागठबंधन बीजेपी की अध्यक्षता वाले महागठबंधन को हराने के लिए बहुदलीय महागठबंधन पर काम कर रहा है। बिहार के इस ‘इंद्रधनुषी महागठबंधन’ में RJD, Congress, NCP , हम , वाम दल और शरद यादव का लोकतांत्रिक जनता दल शामिल हैं। इन सभी दलों ने आपस में 40 लोकसभा सीटों का बंटवारा कर लिया है।
RJD, कांग्रेस के सूत्रों और हम के पूर्व प्रमुख जीतनराम मांझी के मुताबिक, मीडिया की नजरों में आए बिना इन पार्टियों के सीनियर लीडर्स ने एक मीटिंग कर सीटों के बंटवारे और जमीनी आधार पर पार्टियों की शक्ति पर बातचीत की है। ‘हम’ के प्रवक्ता दानिश रिजवान ने मीडिया को बताया कि मांझी ने इसी हफ्ते की शुरुआत में दिल्ली में यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की थी। इसके अलावा 12 जुलाई को कांग्रेस के जनरल सेक्रटरी अशोक गहलोत ने लालू प्रसाद यादव से पटना में मुलाकात की थी। इससे पहले तेजस्वी यादव भी कई बार कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात कर चुके हैं। कुछ सूत्रों का कहना है कि केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाह के नेतृत्व वाली राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (RLSP) भी महागठबंधन का हिस्सा हो सकती है।

हालांकि कांग्रेस इस गठबंधन में अधिक सीटें चाहती है क्योंकि पार्टी का दावा है कि 2015 के विधानसभा चुनावों के बाद से राज्य में पार्टी के जनाधार में इजाफा हुआ है। पार्टी के राज्य के मुख्य प्रवक्ता एचके वर्मा ने कहा, ‘कांग्रेस 12 से ज्यादा सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारना चाहती है। इन सीटों पर पार्टी आरजेडी के साथ गठबंधन करते हुए 2014 के आम चुनाव में भी लड़ी थी।’ उनका दावा है कि पिछले आम चुनाव के बाद इन क्षेत्रों में पार्टी के जनाधार में बढ़ोतरी हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here