संसद का मॉनसून सत्र आज से, मोदी सरकार के खिलाफ विपक्ष लाएगा अविश्वास प्रस्ताव

0
265

संसद का मॉनसून सत्र आज से शुरू हो रहा है. 10 अगस्त तक चलने वाले इस सत्र में कांग्रेस सहित दूसरे विपक्षी दल मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने का नोटिस देंगे. जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को सर्वदलीय बैठक में सभी दलों से सदन को अच्छे से चलाने की अपील की है.

लोकसभा अध्यक्ष की बुलाई सर्वदलीय बैठक में पीएम मोदी ने मॉनसून सत्र में संसद को चलाने में सभी दलों खासतौर से विपक्ष से सहयोग की अपील की. हालांकि बैठक में सभी दलों ने भी संसद को चलाने का भरोसा दिया. पीएम ने विपक्षी दलों से कहा कि वे इस सत्र को सुचारु रूप से चलाने में सहयोग करें और सदन में होने वाली बहस को सार्थक बनाएं.

उन्होंने कहा कि सर्वदलीय बैठक में जो मुद्दे उठाये गये हैं उन पर सदन में बहस होनी चाहिए. पर दोनों ओर जो रुख है उससे स्पष्ट है कि मॉनसून सत्र हंगामेदार ही होगा. कांग्रेस ने 12 से अधिक मुद्दों को सूचीबद्ध किया है जिन्हें लोकसभा और राज्यसभा के दोनों सदनों में उठाने की योजना बनाई है.

कांग्रेस मोदी सरकार की विफलता सहित आंध्र प्रदेश को विशेष पैकेज को लेकर अविश्वास प्रस्ताव लाएगी. लोकसभा में कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे सदन में अपनी पार्टी की ओर से प्रस्ताव रखेंगे. जबकि टीडीपी के तेवर पहले से ही सख्त हैं. वो लोकसभा में सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव का नोटिस देगी.

बता दें कि सबकी नजर लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन पर होगी. बजट सत्र में आंध्र प्रदेश को स्पेशल स्टेट्स देने को लेकर वाईएसआर कांग्रेस के सांसदों द्वारा अविश्वास प्रस्ताव लाने का नोटिस स्पीकर ने मंजूर नहीं किया था. इसके चलते संसद के पिछले सत्र में चौतरफा आलोचना का शिकार हुई थीं.

स्पीकर ने तब यह दलील दी थी कि उनके प्रस्ताव को स्वीकार नहीं किया जा सकता क्योंकि ‘सदन की कार्यवाही नहीं चल रही है.’ उनके ऐसा कहने की वजह से बजट सत्र के अंतिम दिनों में सदन की कार्यवाही पूरी तरह हंगामे की भेंट चढ़ गई थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here