रक्षा मंत्री के रवैये से साफ है कि राफेल सौदे में हुआ बड़ा घोटाला : राहुल गांधी

0
111

नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राफेल सौदे में गोपनीयता संबंधी समझौते को लेकर रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण पर ढुलमुल रवैया अपनाने का रविवार को आरोप लगाया. राहुल गांधी ने दावा किया कि इस लड़ाकू विमान सौदे में निश्चित तौर पर ‘घोटाला’ हुआ है.

उन्होंने इस मुद्दे को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी निशाना साधा और आरोप लगाया कि विमान की कीमतों के बारे में पूछे जाने पर मोदी घबराते हैं. राहुल ने इस मुद्दे को लेकर एक ट्वीट भी किया. उन्होंने लिखा कि हमारी रक्षा मंत्री ने कहा कि वह (खुलासा) करेंगी या लेकिन अब कह रही हैं कि खुलासा नहीं करेंगी.

वह गोपनीय है और गोपनीय नहीं है, के बीच फंसी हुई हैं. जब प्रधानमंत्री से राफेल के विमान के बारे में पूछा जाता है तो वह घबराते हैं और मेरी आंखों में आंख डालकर नहीं देख पाते. निश्चित तौर पर बड़े घोटाले की बू आ रही है. खास बात यह है कि बीते 20 जुलाई को लोकसभा में सरकार के खिलाफ लाए गए अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान राहुल गांधी ने राफेल विमान सौदे में घोटाले का आरोप लगाते हुए कहा था कि प्रधानमंत्री मोदी ‘चौकीदार नहीं बल्कि भागीदार’हैं.

गौरतलब है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भारत द्वारा लड़ाकू विमान खरीदने के लिए किये जाने वाले संभावित सौदे की खबरों को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधते हुए आशंका जतायी कि वह अपने मित्रों को फायदा पहुंचा सकते हैं.

कुछ दिन पहले ही उन्होंने ट्वीट कर कहा कि मोदी घोटाला अलर्ट. 15 अरब डॉलर के लड़ाकू विमान सौदे के लिए फिर से निविदा जारी. सामरिक भागीदार का समझौता करने के लिए प्रधानमंत्री के मित्र दौड़ में.’राहुल ने कहा, ‘राफेल (भारत द्वारा खरीदे गये 36 राफेल विमान की ओर इशारा), सरकारी खजाने को हुए 40 हजार करोड़ रुपये का नुकसान फ्रांसीसियों के लिए ‘सायोनारा’ (विदाई संदेश) घन था, ताकि प्रधानमंत्री फिर से निविदा कर सकें और मित्रों को फायदा पहुंचा सके.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here