ये है रियल लाइफ स्‍पाइडर मैन जिसने चारमंजिला इमारत पर चढ़ बचाई बच्‍चे की जान

0
111

फ्रांस में एक व्‍यक्‍ति को असल जिंदगी का स्‍पाइडर मैन कहा जा रहा है, क्‍योंकि उसने एक इमारत के चौथे माले पर बालकनी से लटक रहे बच्‍चे को बचाया है।

कमाल का साहस और कौशल

द गार्जियन की एक खबर के अनुसार इन दिनों फ्रांस में रियल लाइफ स्‍पाइडर मैन के चर्चे आम हैं। ये असल जिंदगी का स्‍पाइडर मैन पेरिस में एक प्रवासी के रूप में रहने वाला पश्चिमी अफ़्रीकी देश माली का एक नागरिक 22 साल का युवक ममोउदोउ गास्सामा है। गास्सामा का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसमें रविवार को वे शानदार तरीके से एक बच्चे को बचाते हुए दिखाई पड़ रहे है। इस वीडियो में नजर आ रहा है कि एक मिनट से भी कम समय में उन्‍होंने एक बालकनी से दूसरी पर चढ़ते हुए चार मंजिल पर लटके हुए बच्चे को पकड़ लिया। इसके बाद उसे पास वाले फ्लैट के एक पड़ोसी थमा दिया। उनके इस अभूतपूर्व साहस और कौशल का पूरा फ्रांस यहां तक कि वहां के राष्‍ट्रपति तक मुरीद हो गए हैं।

बने हीरो राष्‍ट्रपति ने भी की तारीफ

गास्सामा ने पेरिस में इस बच्चे की जान बचाने के लिए अपनी जान की भी परवाह नहीं की, और वह इस चार मंजिला इमारत पर बिना किसी सुरक्षा इंतज़ाम के चढ़ते चले गए। इसके बाद सोशल मीडिया पर गास्सामा का वीडियो वायरल हो गया और पेरिस में उन्हें एक हीरो की तरह देखा जा रहा है। उनके कारनामे को जानने के बाद फ्रांस के राष्ट्रपति इमेनुएल मेक्रों भी उनसे मिलने के लिए उत्‍सुक हो गए। राष्‍ट्रपति ने उन्‍हें इलेसी पैलेस में बुलाया है और कहा है कि अब गास्सामा को फ्रांस की नागरिकता दी जाएगी।

अब भी सहज हैं गास्सामा

जब गास्सामा से उनके इस कारनामे के बारे में बात की तो वे बेहद सहज भाव से कहते हैं कि उन्‍हें नहीं लगता कि उन्‍होंने कुछ खास किया है। उनके अनुसार उस दिन जब वे एक सड़क से होकर गुज़र रहे थे, तभी उन्होंने एक इमारत के सामने लोगों की भीड़ लगी देखी। पास जाने पर पता चला कि एक बच्‍चा इमारत की चौथी मंजिल की बालकनी से एक बच्‍चा लटक रहा है। उन्‍हें लगा कि इस बच्‍चे को बचाना चाहिए और इसीलिए उन्‍होंने ये कदम उठाया। बच्चे की जान ख़तरे में थी इसलिए वे इमारत पर चढ़ गए, और अब भगवान का शुक्र अदा कर रहे हैं कि उन्‍होंने उसे बचा लिया।

बचाव दल के आने पहले सुरक्षित हो गया था बच्‍चा 

पता चला है कि घटना की सूचना पा कर जब तक दमकलकर्मियों की टीम घटनास्थल पर पहुंची तब तक बच्चे को बचाया जा चुका था। घटना के दौरान बच्चे के माता-पिता घर पर मौजूद नहीं थे, और अब पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है। इस बीच पेरिस शहर की मेयर एन हिडाल्गो ने भी गास्सामा को फ़ोन करके उनको धन्‍यवाद दिया है, उन्‍होंने ही गास्सामा को ‘स्पाइडर मैन’ की उपाधि भी दी है। इसके बाद हिडाल्गो ने ट्वीट करके कहा कि गास्सामा ने उन्‍हें बताया है कि कुछ महीने पहले ही वे अपने सपनों को पूरा करने के लिए माली से पेरिस आए हैं, और उन्‍हें लगता है कि ममोउदोउ ने जो काम करके दिखाया है वो सभी नागरिकों के लिए एक मिसाल है और पेरिस शहर उनके सपनों को पूरा करने में हर तरह से सहयोग देगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here