राफेल सौदे को लेकर पूर्व मंत्री अरुण शौरी और यशवंत सिन्हा मोदी सरकार पर बरसे

0
83

नई दिल्ली: राफेल डील में कथित घोटाले के मामले को लेकर आज पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी, यशवंत सिन्हा और वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण ने मोदी सरकार को घेरा. उन्होंने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करके पीएम नरेंद्र मोदी और उनकी सरकार पर गंभीर आरोप लगाए. अरुण शौरी ने कहा है कि फ्रांस के साथ हुए राफेल सौदे में बड़ा घोटाला हुआ है, जिससे राष्ट्रीय सुरक्षा को नुकसान पहुंचा है. उन्होंने कहा कि उन्हें कल रात में अनिल अंबानी ने इस मुद्दे को न उठाने के लिए चिट्ठी लिखी है.

पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी ने कहा कि पीएम मोदी के दौरे के दौरान राफेल विमान की खरीद की जो डील की गई वह बिल्कुल नई डील थी. किसी नई डील के लिए नए सिरे से टेंडर होना चाहिए था. इसके साझा घोषणापत्र में भी किसी नए उपकरण या हथियार लगाए जाने का ज़िक्र नहीं था. सेम कॉन्फिगरेशन के हथियार का ज़िक्र था जिसे एयरफ़ोर्स पहले टेस्ट कर अप्रूव कर चुका था. इसका कॉन्ट्रेक्ट हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL) से हटाकर अनिल अंबानी की कंपनी को दे दिया गया जिसको डिफ़ेंस का कोई अनुभव नहीं था और कंपनी 10 दिन पहले बनाई गई थी.

शौरी ने कहा कि सरकार की गाइडलाइन कहती है कि हर ऑफ़सेट कॉन्ट्रेक्ट चाहे वह जिस भी क़ीमत का हो, रक्षा मंत्री की मंज़ूरी से होगा. सरकार झूठ बोल रही है कि रिलायंस को कॉन्ट्रेक्ट डेसाल्ट ने दिया. कीमत का खुलासा न करने का तर्क भी बेकार है. सरकार के रक्षा राज्यमंत्री खुद लोकसभा में कीमत बता चुके हैं- 670 करोड़ प्रति विमान जिसमें सब कुछ शामिल है. इस क़ीमत में हथियार से लेकर ट्रांसफर ऑफ टेक शामिल है. रिलायंस और डेसाल्ट ने भी खुद एक साल पहले कीमत बताई थी, 1000 करोड़ प्रति विमान से ज़्यादा. शौरी ने कहा कि घोटाले के संदर्भ में राफेल के मुकाबले बोफ़ोर्स कुछ नहीं था.

सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण ने कहा कि इस सौदे से देश को 35000 करोड़ दी चपत लगी है. सौदे में विमान की तादाद घटाए जाने से देश की सुरक्षा को ख़तरा बढ़ा है. तादाद 126 से 36 किए जाने की जानकारी न तो रक्षा मंत्री को थी न वायुसेना में किसी को. सरकार सीक्रेसी क्लाउज का बहाना करके छिपाना चाह रही है. पीएम मोदी ने सिर्फ अपने बिना पर फ़ैसला किया. ऑफ़सेट कॉन्ट्रेक्ट की गाइडलाइन भी इसी सरकार की बनाई है. डेसाल्ट जो क़ीमत बता रहा है 36 प्लेन की वह 65 हज़ार करोड़ के क़रीब बैठती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here