महाराजा सुहेलदेव के नाम के प्रति सम्मान व्यक्त करना हर भारतीय का दायित्व: योगी

0
27

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि भारत की अखण्डता को अक्षुण्ण बनाये रखने का काम महाराजा सुहेलदेव ने किया. इसलिए उनके नाम के प्रति सम्मान व्यक्त करना हर भारतीय का दायित्व है. मुख्यमंत्री ने भाजपा पिछड़ा वर्ग मोर्चा द्वारा आयोजित सामाजिक प्रतिनिधि बैठक के दूसरे दिन प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए महाराजा सुहेलदेव का उल्लेख किया .उन्होंने कहा कि इन महापुरूषों ने देश-धर्म की रक्षा के लिए जो अपना योगदान दिया, वह वर्तमान व आने वाली पीढ़ी के लिए अनुकरणीय है.

भारत की अखण्डता को अक्षुण बनाये रखने का काम जिस महापुरूष ने किया था, उस महापुरूष का नाम है महाराजा सुहेलदेव. इसलिए उनके नाम के प्रति सम्मान व्यक्त करना हर उस भारतीय का दायित्व बनता है जिसे भारत की एकता और अखण्डता व सुरक्षा प्यारी है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि एक बहुत बड़ा कार्य हुआ था उस काल खण्ड में, लभगभ डेढ़ सौ वर्षों तक कोई विदेशी आक्रान्ता भारत पर हमला करने का साहस नहीं जुटा पाया था. लेकिन इतिहास के पन्नों में महाराज सुहेलदेव का नाम नहीं आने दिया गया. उस समय षड्यन्त्रों का परिणाम रहा कि हम अपने महापुरूषों को भूल गये.

बहराइच के चितौरा का जिक्र करते हुए योगी ने कहा कि चितौर की माटी आज भी राजा सुहेलदेव के शौर्य और पराक्रम की गाथा गाती है . लेकिन इस गाथा का देश स्मरण कर सके, इसका प्रयास नहीं हुआ. यह प्रयास तब हुआ जब भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह उस स्थान पर जाकर राजा सुहेलदेव की प्रतिमा के अनावरण कार्यक्रम में सम्मलित हुए. राष्ट्रीय स्तर का कार्यक्रम भाजपा के द्वारा ही किया गया.

भाजपा की ओर से जारी विज्ञप्ति के मुताबिक मुख्यमंत्री ने महाराजा सुहेलदेव को अपना आदर्श मानने वाले लोगों को सचेत करते हुए कहा कि जो लोग इस देश के अंदर महमूद गजनवी और मोहम्मद गौरी को अपना आदर्श मानते हैं, उन्हें पहचानना होगा .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here