असम : ममता के सांसदों की No-Entry, एयरपोर्ट पर ही किए गए गिरफ्तार

0
99

सिलचर: असम में एनआरसी का दूसरा ड्राफ्ट आने के बाद से सियासी घमासान मचा हुआ है. तृणमूल सांसदों के एक दल को असम के सिलचर एयरपोर्ट पर रोका गया और इसके बाद देर शाम उन्हें औपचारिक रूप से गिरफ्तार कर लिया गया. TMC के 6 सांसद और 2 एमएलए हिरासत में लिए गए हैं. वे नागरिक रजिस्टर के मुद्दे पर सिलचर में एक सभा करना चाहते थे. उन्हें एयरपोर्ट से निकलने नहीं दिया गया.

असम की बाराक घाटी और सिलचर में पहले से ही धारा 144 लागू है. टीएमसी (TMC) का प्रतिनिधिमंडल चाहता था कि वो वहां नागरिक रजिस्ट के मुद्दे पर कुछ बांग्ला संगठनों के साथ बातचीत करे. टीएमसी नेताओं को एयरपोर्ट पर रोके जाने के बाद पार्टी सुप्रीमो ममता बनर्जी ने कहा कि यह ‘सुपर इमरजेंसी है.

ममता बनर्जी ने दावा किया कि हवाईअड्डे पर तृणमूल प्रतिनिधिमंडल के सदस्यों, जिनमें महिलाएं भी हैं, के साथ दुर्व्यवहार किया गया. उन्होंने भाजपा पर देश में ‘सुपर इमरजेंसी’ लगाने का आरोप लगाया. ममता बनर्जी ने कहा कि भाजपा इस घटना से बेनकाब हो गई है और उन्होंने जानना चाहा कि किस कानून के तहत तृणमूल प्रतिनिधिमंडल को रोका गया.?

उधर, टीएमसी नेता डेरेक ओ ब्रायन ने भी तीखी प्रतिक्रिया जताते हुए कहा कि ये ‘सुपर इमरजेंसी है.’ उन्होंने कहा कि हमारे सदस्यों की टीम को सारे दस्तावेज़ों के बावजूद जाने नहीं दिया गया. टीएमसी के सांसद क़ानून बनाने वाले हैं, तोड़ने वाले नहीं. उन्होंने कहा कि हमारे एक सांसद के साथ धक्कामुक्की हुई जिनको पेसमेकर लगा हुआ है. ये बिल्कुल पागलपन है. उन्हें जब तक जाने नहीं दिया जाता, वो वहां से हटेंगे नहीं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here