मिसाइलमैन डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम ने पोखरण परीक्षण में निभाई थी बड़ी अहम भूमिका

0
75
APJ Abdul Kalam Birth Anniversary

डेस्क। मिसाइलमैन के नाम से दुनियाभर में मशहूर डॉक्टर अब्दुल कलाम की सोमवार को जयंती मनाई गई। इस महान वैज्ञानिक की बदौलत आज भारत की विश्वभर में एक अलग पहचान बनी हुई है। साल 2002 में उन्हें भारत का राष्ट्रपति बनाया गया था।

अब्दुल कलाम का जन्म 15 अक्टूबर 1931 को रामेश्वरम में हुआ था। उन्होंने अपनी पढ़ाई सेंट जोसेफ कॉलेज, तिरुचिरापल्ली से की थी। पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम का 27 जुलाई, 2015 को शिलॉंग में दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हो गया था।

अब्दुल कलाम ने पोखरण परीक्षण में बड़ी अहम भूमिका निभाई थी। इसके बाद भारत ने विश्व शक्ति के पटल पर अपनी पहचान बनाई। राजस्थान की झुलसा देने वाली गर्मी में भी डॉ. कलाम ने महीनों तक मोर्चा संभाले रखा। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के साथ डॉ. कलाम ने सेना की वर्दी में भी नज़र आए। उस पुरे मिशन को डॉ. कलम ने वाजपेयी जी के साथ मिलकर अंजाम दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here