अलवर का ऐतिहासिक तरणताल सागर बना सुसाइड का अड्डा, जानिए पूरा माज़रा

0
123
ALWAR

डेस्क। राजस्थान के अलवर जिले का ऐतिहासिक तरणताल सागर इन दिनों सुसाइड का अड्डा बना हुआ है हर माह कोई ना कोई इस तरणताल में कूदकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर लेता है। प्रशासन के द्वारा 24 घंटे निगरानी के लिए तीन गार्ड लगा दिए गए लेकिन फिर भी सुसाइड का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है।

अलवर कलेक्ट्रेट के पीछे बने ऐतिहासिक तरणताल जिसे सागर के नाम से जाना जाता है। जहां पर्यटक कम और आत्महत्या करने वाले लोग ज्यादा आने लगे है। इसके बाद भी प्रशासन ने कोई पुख्ता इंतजाम नहीं किए। यहां तक की इस तरणताल के चारों ओर रात्रि में अंधेरा ही पसरा रहता है।

गुरुवार शाम को अज्ञात युवक मोटा पत्थर अपने शरीर पर बांध कर छतरियों पर से नीचे सागर में कूद गया। इसे लेकर तुरंत प्रशासन को सूचना दी गई। लेकिन कई घंटे की मशक्कत के बाद भी युवक का पता नहीं चल सका है।

प्रशासन के द्वारा कई बार कोशिश की गई हर कोशिश विफल रही। स्थानीय गार्ड ने बताया कि युवक पहले फोन पर किसी से बात करते दिखा और उसके बाद मोटा पत्थर अपने शरीर पर बांधकर ऊपर से नीचे छलांग लगा दी। अभी तक उस युवक का कोई पता नहीं चल पाया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here