‘भारत बंद’ के दौरान बच्ची की मौत : परिजनों ने कहा- अगर वाहन समय से मिल जाता तो …

0
115

पटना: पेट्रोल-डीजल की कीमतों के खिलाफ आज विपक्ष के ‘भारत बंद’ के दौरान जाम में फंसने से एक दो साल की बच्ची की मौत हो गई है.

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने घटना पर पूछा है कि इस बच्ची की मौत का जिम्मेदार कौन है. वहीं जहानाबाद के एसडीओ परितोष कुमार ने बंद की वजह से बच्ची की मौत होने से इन्कार किया है उनका दावा है कि बच्ची को परिजन देर से ही लाये थे इसीलिये उसकी मौत हुई है.

वहीं जब इस मुद्दे पर मृतक के परिवार से बातचीत की गई तो उनका कहना है कि समय से रहते अगर वाहन मिल जाता तो बच्ची की जान बच जाती. परिजनों ने बताया की दो दिन से गौरी की तबियत ख़राब थी जब आज अचानक ज्यादा तबियत बिगड़ी तो हम लोग किसी तरह बंद के बावजूद नदी पार कर ऑटो से लेकर जहानाबाद अस्पताल लेकर आ रहे थे कि रास्ते में ही बच्ची ने दम तोड़ दिया. बंद की वजह से ग्रामीण इलाके में वाहन नही चल रहे थे.

वहीं ‘भारत बंद’ को असफल करार देते हुए रविशंकर प्रसाद ने कांग्रेस समेत विपक्षी दलों से पूछा कि बिहार के जहानाबाद में एम्बुलेंस समय रहते हॉस्पिटल नहीं पहुंच पाई जिसके कारण दो साल की एक बच्ची की दुखद मौत हो गयी, राहुल गांधी जवाब दें कि इसका जिम्मेदार कौन है? उन्होंने कहा, विरोध तक ठीक है, लेकिन जो पेट्रोल पंप और सार्वजनिक संपत्तियों को नुकसान पहुंचाया गया है, उसकी जिम्मेदारी कौन लेगा?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here