Published On: Sun, Feb 25th, 2018

सरकारी स्कूलों में शिक्षा की गुणवत्ता

Share This
Tags

सुविधाओं को लेकर अरबो रुपये के विज्ञापन

आई.बी.ए:– वैसे तो देश एवम प्रदेश की सरकार सरकारी स्कूलों में शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर बताने ओर उसमे बच्चो को मिलने वाली मुफ्त की सभी सुविधाओं को लेकर अरबो रुपये के विज्ञापन दिखाकर अपनी पीठ थपथपा रही है लेकिन इसके विपरीत कहानी कुछ और ही बया करती नजर आ रही है  |

मध्य्प्रदेश के राजगढ़ जिले के खिलचीपुर के सोमवारिया का कन्या प्राथमिक विद्यालय में सूरज के तेवर दिखाने के पहले दिन ही स्कूल की छोटी छोटी छात्राओं ओर स्टाफ को पानी की किल्लत का सामना करना पड़ा जिसके चलते स्कूल के बच्चे बगेर पानी के ही कक्षा में सूखे मुहः बैठने को मजबूर दिखे या अपनी बॉटल से पानी पीने की बात कहते हुए दिखाई दिए और जब इस बारे में स्कूल के प्रबंधक से लेकर स्टाफ ओर बच्चो से जब बात की तो उन्होंने जो वास्तविकता बतलाई उसने सरकार के अरबो रुपये के विज्ञापनो पर पानी फेर दिया।

पानी की कमी को लेकर कक्षा में बैठी छोटी छोटी बच्चियों से जब बात की तो उन्होंने बतलाया कि पिछले कई दिनों स्कूल में पीने का पानी नही है जिसके चलते हमे अपने घर से ही बॉटल भरकर पानी लाना पड़ता है ओर टंकी में पानी नही होने के कारण हमारे स्कूल के शौचालय में भी ताला लगा हुआ है।

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

ताज़ा खबर