रंगदारी मांगे जाने से डरे BJP विधायक! संदिग्ध खातों में जमा हुए पैसे

0
103

उत्तर प्रदेश के BJP विधायकों को जान से मारने की धमकी देकर रंगदारी मांगे जाने के मामले में जांच एजेंसियों को चौंकाने वाली बात पता चली है. राज्य सरकार की मांग पर मामले की जांच कर रही केंद्रीय एजेंसियों और इमर्जेंसी रेस्पांस टीम के अधिकारियों के मुताबिक, ऐसा लग रहा है कि कुछ विधायक धमकी से डर गए और बताए गए अकाउंट्स में फिरौती की रकम जमा करवाई है.

जांच एजेंसी के अधिकारियों ने बताया कि अब तक की जांच में इस बात के सबूत मिले हैं कि संदिग्ध अकाउंट्स में मई के पहले सप्ताह में कुछ पैसे जमा किए गए और मई के तीसरे सप्ताह में पैसे निकाल लिए गए.

जांच अधिकारियों को शक है कि यह पैसे मांगी गई रंगदारी के ही पैसे हैं. क्योंकि पैसे जमा करने और निकाले जाने की अवधि रंगदारी के लिए विधायकों के मोबाइल पर आए संदेशों की अवधि के इर्द-गिर्द ही है.

जांच से जुड़े सूत्रों ने ‘आजतक’ को बताया कि पैसे जमा किए जाने के मात्र दो सप्ताह के अंदर पूरे पैसे निकाल लिए गए, जो शक पैदा करता है. जानकारी के मुताबिक, पैसे एक क्रिप्टोकरेंसी वॉलेट में जमा करवाए गए. अकाउंट होल्डर ने क्रिप्टोकरेंसी वॉलेट में जमा सारे पैसे कैश करा लिए हैं और अब इस क्रिप्टोकरेंसी वॉलेट का बैलेंस जीरो हो चुका है.

बताते चलें कि यूपी में इन दिनों सत्ताधारी दल बीजेपी के विधायक डरे हुए हैं. उन्हें फोन पर जान से मारने की धमकी देकर रंगदारी मांगी जा रही है. अभी तक बीजेपी के करीब 25 विधायकों से व्हाट्सऐप के जरिए 10 लाख रुपये की रंगदारी मांगी गई है, जिनमें केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह के बेटे पंकज सिंह भी शामिल हैं.

कसया से विधायक रजनीकांत मणि त्रिपाठी और डिबाई से अनीता राजपूत ने इस मामले में केस दर्ज कराया है. बीजेपी विधायक रजनीकांत मणि त्रिपाठी ने लखनऊ के हजरतगंज कोतवाली में केस दर्ज कराया है. इससे पहले लखनऊ, सीतापुर, बुलंदशहर और शाहजहांपुर सहित कई जिलों से बीजेपी विधायकों को ऐसे धमकी भरे मैसेज मिले हैं. दुबई नंबर से मैसेज भेजने वाले ने अपना नाम अली बुदेश भाई लिखा है. पुलिस ने सभी विधायकों की सुरक्षा बढ़ा दी है.

देश के दूसरे हिस्सों से भी विधायकों से रंगदारी मांगे जाने के इसी तरह के वाकये सामने आए हैं. धमकी भरे संदेश देने वाले व्यक्ति ने खुद को भारत के मोस्ट वांटेड अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के खास गुर्गे अली बुदेश का आदमी बताया, हालांकि अली बुदेश ने आजतक से बातचीत में विधायकों से रंगदारी मांगने से साफ इनकार कर दिया है.

सूत्रों ने यह तो नहीं बताया कि धमकी देने वाले व्यक्ति को रंगदारी के कितने पैसे मिले, हालांकि आजतक से बातचीत में इस बात की पुष्टि की है कि 3 मई को संदिग्ध क्रिप्टोकरेंसी वॉलेट में 1.5 बिटकॉइन   जमा करवाए गए, जिसकी भारतीय रुपये में कीमत 7.5 लाख के करीब है.

सूत्रों ने आजतक को बताया कि 4 मई को संदिग्ध अकाउंट में 8 लाख रुपये के करीब बैलेंस था, जो 18 मई को शून्य हो गया. जांच में यह बात भी सामने आई है कि व्हाट्सऐप मैसेज भेजने के लिए इस्तेमाल किए गए मोबाइल नंबर असली नहीं थे, बल्कि इसके लिए प्रॉक्सी सर्वर का इस्तेमाल किया गया. जांच में यह भी सामने आया है कि बीजेपी विधायकों को धमकी भरे से मैसेज पाकिस्तान से आए हैं, हालांकि अब तक इन नंबरधारकों की पहचान नहीं हो पाई है.

इन प्रमुख विधायकों को मिल चुकी है धमकी

1- शशांक त्रिवेदी- मोहाली, सीतापुर

2- डॉ. अनीता लोधी राजपूत- डिबाई, बुलंदशहर

3- लोकेंद्र प्रताप सिंह- मोहम्मदी, लखीमपुर खिरी

4- वीर विक्रम सिंह- कटरा, शाहजहांपुर

5- विनय द्विवेदी- मेहनौन, गोंडा

6- प्रेम नारायण पांडेय- तरबगंज, गोंडा

7- विनोद कटियार- भोगनीपुर, कानपुर देहात

8- श्याम बिहारी लाल- बरेली

9- मानवेंद्र सिंह- दादरौल, शाहजहांपुर

10- रजनीकांत मणि त्रिपाठी- कसया, कुशीनगर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here