Published On: Wed, Sep 27th, 2017

जन सूचना के अधिकार को लोगों ने बनाया कमाई का जरिया

Share This
Tags

(आईबीए):जन सूचना के अधिकार को कुछ लोगों ने अपनी कमाई का जरिया बना लिया है। मामला देवरिया के नारायनपुर बंजरिया स्थित एक मदरसा का है जहां आरटीआई कायकर्ता ने जन सूचना के अधिकार के तहत आरोप लगाया कि मदरसे में तैनात तहतानिया की एक सहायक अध्यापिका विदेश में रहती है और हर महीने वेतन भी ले रही है। आलिया की सहायक अध्यापिका भी महीनों से मदरसा नहीं आ रही लेकिन हर महीने वेतन लिया जा रहा है। दूसरी ओर, मदरसे के प्रधानाचार्य ने आरोपों को बेबुनियाद बताया है। उन्होंने कहा कि तहतानिया की अध्यापिका रमजान के ही एक महीने की छुट्टी में उमरा करने के लिए विदेश गई थीं जो उनके पासपोर्ट से जांच किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि उस पर जाने और आने की तारीख अंकित है। आलिया की अध्यापिका प्रसूता अवकाश पर हैं जो उनका कानूनी अधिकार है। उन्होंने कहा कि ये सब प्रधानी के चुनावी रंजिश की वजह से मुझे ब्लैकमेल किया जा रहा है। जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी नीरज अग्रवाल ने बताया कि आरोपों की जांच की गई है। विदेश में रह कर अध्यापन कार्य कर वेतन लेना संभव नहीं है।

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

ताज़ा खबर