आइये जाने थायराइड के बारे मैं

0
141

बड़ी बीमारी का लक्षण
आई.बी.ए:-आपको पता ही है कि थायराइड जैसी बीमारियां हमें बहुत जल्दी नहीं पता लगती इसके लक्षण ही कुछ ऐसे होते हैं जिसका कि हमें पहले से पता नहीं होता है और इसके लक्षण को हम इतनी गंभीरता से लेते ही नहीं हैं| हम में से कई लोग हमारे साथ होने वाली दिक्कतों के बारे में ऐसा ही सोचते रहते हैं। कभी सिरदर्द तो कभी पेटदर्द तो कभी पैरों में दर्द होना, हमें बहुत छोटी-मोटी बातें लगती हैं।

ऐसा नहीं है कि थोड़े से सिरदर्द में ही कुछ बुरा सोचकर बैठ जाएं। मगर इन छोटी समस्याओं का लंबे समय तक बने रहना किसी बड़ी बीमारी का लक्षण हो सकता है।हमारे शरीर में ऐसे कई अंग होते हैं जो असामान्य तरीके से काम करने लगते हैं तो कई गंभीर बीमारियां हो जाती है। गले में मौजूद ‘थायराइड ग्लैंड’ इसी का एक उदाहरण है। थाइराइड ग्लैंड से थायराइड हार्मोन का स्त्राव होता है। यह हार्मोन हमारे मेटाबॉलिज्म, तापमान और धड़कनों को रेग्युलेट करता है।

छोटी समस्याओं का लंबे समय तक बने रहना किसी बड़ी बीमारी का लक्षण
कुछ स्थितियों में थायराइड ग्लैंड कम तो कुछ में ज्यादा हार्मोन प्रोड्यूस करने लगती हैं। ये दोनों ही स्थिति स्वास्थ्य की दृष्टि से हमारे लिए हानिकारक होती है। आइए आज हम उन लक्षणों पर बात करते हैं, जिनसे पता लगाया जा सकता है कि हमें थायराइड से संबंधित कोई समस्या है।ज्यादा चलने, काम करने या व्यायाम करने से माँसपेशियों में दर्द होना बहुत आम होता है। मगर बेवजह हाथ, पैर, गर्दन आदि में जकड़न और दर्द होना या इनका सुन्न पड़ जाना थायराइड से जुड़ी समस्या का संकेत है।

वजन कई कारणों से बढ़ता है। इनमें से एक वजह थायराइड में गड़बड़ी भी है। डाइट में बदलाव किए बिना और व्यायाम करने के बावजूद वजन बढ़ रहा है तो ऐसा अंडर-एक्टिव थायराइड की वजह से हो रहा है।थायराइड के लक्षण को पढ़े और खुद को इस बीमारी से बचाए।

थायराइड बीमारी
1. ज्यादातर महिलाओं की आंखों में ये बीमारी हो जाती महिलाओं की आंखों से दिखना थोड़ा कम हो जाता है आंखों में सूजन आ जाती है, आंखें लाल रहने लग जाती है,

2. थायराइड होने से हमारे शरीर रोग प्रतिरोधक क्षमता को कमजोर करते हैं.

3. जिससे की हमारी इम्यूनिटी सिस्टम भी कमजोर हो जाता है और हमें बहुत तरह की बीमारियां लगी रहती है अगर हमारा इम्यूनिटी सिस्टम सही रहेगा तो हमें कोई बीमारी जल्दी नहीं लगेगी .

4. थायराइड जैसे रोग का पता लगाने के लिए हमें सबसे पहले ब्लड टेस्ट कराना चाहिए जिससे कि हमें पता लग जाता है कि हमें थायराइड है या नहीं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here